कासगंज में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या का पूरा मामला जानिये

0
47
KASGANJ-MURDER-CASE

सोरों कोतवाली क्षेत्र के गांव होडलपुर में रविवार की रात ग्राम प्रधान सत्यवती के परिवार के भूपेंद्र उर्फ रुद्र (25) भाई प्रेम सिंह (55) और  राधाचरन (27) की हत्या कर दी गई। गांव के ही हमलावरों ने इन्हें घेर कर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं थी। घटना में दो लोग घायल भी हुए हैं, जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इस हत्याकांड के पीछे पुरानी रंजिश बताई गई है। 

होडलपुर गांव में रविवार की रात ताबड़तोड़ फायरिंग से ऐसी दहशत फैली थी कि ग्रामीण घरों में छिपने को विवश हो गए। हत्यारोपी जब फरार हो गए उसके बाद ही ग्रामीण घरों से निकले। प्रधान के परिवार में चीख-पुकार मच हुई थी। हर जुबान पर हत्यारोपियों और पुलिस के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश था।
हत्याकांड के बाद पुलिस ने आरोपियों के घरों के साथ ही आसपास के इलाके में भी तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान सात आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया। एसपी ने कई पुलिस टीमें अन्य आरोपियों की तलाश में लगा दी हैं। यह आसपास के इलाकों में आरोपियों की तलाश कर रहीं हैं। मुख्य आरोपी फरार हैं। 

तिहरे हत्याकांड को लेकर पुलिस पर अनदेखी के आरोप लग रहे हैं। मृतकों के परिजनों के अनुसार हत्यारोपी कई दिनों से घेराबंदी कर रहे थे। इसकी पुलिस से शिकायत की गई, जिसे अनदेखा कर दिया गया। यदि पुलिस सतर्क होती और प्रभावी तरीके से कार्रवाई करती तो शायद यह घटना नहीं होती। पुलिस अधिकारियों को परिवार के लोगों और ग्रामीणों ने पूरे मामले की जानकारी दी है।

सोरों कोतवाली क्षेत्रे के गांव होडलपुर में रविवार की रात ग्राम प्रधान सत्यवती के परिवार के भूपेंद्र उर्फ रुद्र (25) भाई प्रेम सिंह (55) और  राधाचरन (27) की हत्या कर दी गई। गांव के ही हमलावरों ने इन्हें घेर कर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं थी। घटना में दो लोग घायल भी हुए हैं, जिनकी हालत गंभीर बनी हुई है। इस हत्याकांड के पीछे पुरानी रंजिश बताई गई है। 

होडलपुर गांव में रविवार की रात ताबड़तोड़ फायरिंग से ऐसी दहशत फैली थी कि ग्रामीण घरों में छिपने को विवश हो गए। हत्यारोपी जब फरार हो गए उसके बाद ही ग्रामीण घरों से निकले। प्रधान के परिवार में चीख-पुकार मच हुई थी। हर जुबान पर हत्यारोपियों और पुलिस के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश था।
हत्याकांड के बाद पुलिस ने आरोपियों के घरों के साथ ही आसपास के इलाके में भी तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान सात आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया। एसपी ने कई पुलिस टीमें अन्य आरोपियों की तलाश में लगा दी हैं। यह आसपास के इलाकों में आरोपियों की तलाश कर रहीं हैं। मुख्य आरोपी फरार हैं। 

तिहरे हत्याकांड को लेकर पुलिस पर अनदेखी के आरोप लग रहे हैं। मृतकों के परिजनों के अनुसार हत्यारोपी कई दिनों से घेराबंदी कर रहे थे। इसकी पुलिस से शिकायत की गई, जिसे अनदेखा कर दिया गया। यदि पुलिस सतर्क होती और प्रभावी तरीके से कार्रवाई करती तो शायद यह घटना नहीं होती। पुलिस अधिकारियों को परिवार के लोगों और ग्रामीणों ने पूरे मामले की जानकारी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here