रिपब्लिक के बढ़ते परचम से लिबरल सुलग रहे हैं |

अर्नब तो आगे बढ़ता चला गया , भौंकने वाला वहीं के वहीं रह गए |

0
77
republic global launched
Image: Rashtrahit Media

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क आज पूरी दुनिया में अपना परचम लहराने को तैयार है। रिपब्लिक की शुरुआत 19 फरबरी 2019 को हुई थी। जिसके कुछ समय बाद ही पत्रकारिता के क्षेत्र में रिपब्लिक एक ब्रांड बन गया। वर्तमान समय में रिपब्लिक के 3 चैनल हैं और रिपब्लिक ग्लोबल रिपब्लिक का चौथा चैनल बन रहा है। जिसमें वे पूरे विश्व की खबरें, मुद्दे आदि सामने लेकर आएंगे। चाँहे वह वुहान जैसा या डोमिनिका जैसा कोई मुद्दा हो। जिसमें वे 120 प्रोफेशनल जर्नलिस्ट के साथ मिलकर काम करेंगे और खबरें, तफ़्तीश से और वैश्विक कंटेंट लाएंगे।

रिपब्लिक ने कल(16 जून) अपने ऑफिशियल ट्विटर एकाउंट से कुछ ट्वीट्स किए जिसमें रिपब्लिक ग्लोबल शुरू करने की बात की गई। जिससे अर्णब गोस्वामी के फैंस की खुशी ट्विटर पर देखते बन रही थी लेकिन कुछ लेफ़्टिस्ट को यह बात बर्दाश्त नहीं हुई जिसके बाद से उन्होंने रिपब्लिक और अर्णब को ट्रोल करना शुरू कर दिया।

कल देर शाम रिपब्लिक की ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से कुछ ट्वीट्स किए गए:-

  1. हम R. ग्लोबल से जुड़े कई अनाउंसमेंट करने जा रहे हैं। हमें गर्व है कि हम विश्व स्तर पर काम करने जा रहे हैं, जिसके लिए हम भारत के उन लोगों के शुक्रगुज़ार हैं जो हमसे प्यार करते हैं।
  2. अर्णब गोस्वामी ने खुद इस मामले में अपने आप को कमिट कर रखा है कि कैसे R. ग्लोबल से पूरी दुनिया को जोड़ा जाए। R. ग्लोबल तो अभी सिर्फ पहला कदम है।
  3. अब रिपब्लिक सारे देशों से मिलकर काम करेगा और दूसरे देशों के मुद्दे उठाएगा। वुहान से लेकर डॉमिनिका जैसे केसेज़ को कवर करेंगे।
  4. रिपब्लिक मीडिया को गर्व है कि उन्होंने 600%डिजिटल ग्रोथ हासिल कीऔर साथ ही डिजिटल ट्रैफिक में भी इज़ाफ़ा हुआ है। हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि रिपब्लिक अपनी ग्रोथ की ओर अपना अगला कदम बढ़ा रही है। जल्द ही रिपब्लिक भारत का “डिजिटल टेक ब्रॉडकास्ट मीडिया पावरहाउस” बन जाएगा।
  5. रिपब्लिक ने अनाउंसमेंट किया कि वे 100 से ज़्यादा डिजिटल प्रोफेशनल, डिजिटल फ़ोर्स और कंटेंट बढ़ाएंगे। अभी ज़िप्पी ग्रोथ बहुत दूर है यह तो बस “R डिजिटल स्टोरी” की एक शुरुआत है।
  6. रिपब्लिक एक गेमचेंजर बनने जा रहा है, जो अपने व्यूअर्स के लिए ऑन एयर और ऑनलाइन काम करेगा। एक नए अंदाज़, नए उत्साह और एक अनमैचेबल कंटेंट के साथ।

इन ट्वीट्स के बाद रिपब्लिक के प्रशंसकों ने उन्हें काफ़ी बधाइयां दीं और अर्णब गोस्वामी की तारीफ भी की। वहीं कुछ लोग ऐसे थे जो इस बात का मज़ाक बना रहे थे और रिपब्लिक तथा अर्णब गोस्वामी को ट्रोल कर रहे थे।

ट्रोलर्स में शामिल हुईं पत्रकार:

उन्हीं में एक मोहतरमा हैं साक्षी जोशी जिन्होंने ये लिखकर ट्रोल किया कि “सिर्फ भारत ही रिपब्लिक को क्यों भुगते।” साक्षी जोशी एक पत्रकार हैं जिन्होंने BBC, न्यूज़18इंडिया, न्यूज़ 24 और इंडिया TV जैसे बड़े चैनलों में काम किया लेकिन ट्रोल करके एक छोटी सी हरकत कर दी।

अन्य ट्रोलर्स:

दलजीत नामक व्यक्ति ने तो R. ग्लोबल को R. गोबर तक कह डाला। समझ नहीं आता कि आखिर कोई किसी की तरक्की देखकर खुश क्यों नहीं रह सकता। वो कहते हैं ना कि दूसरों की तरक्की देखकर कुछ लोगों की बहुत जलती है। जिसके कारण कुछ लोगों को बहुत तक़लीफ़ है कि कोई इतना आगे कैसे पहुँच सकता है।

यह तो एक खुशी की बात है कि रिपब्लिक एक ऐसा चैनल बनने जा रहा है, जो पूरे विश्व में भारत का परचम लहराएगा।

Read More: कोई यूँ हीं जन जन का प्यारा नहीं हो जाता,कोई ऐसे ही पूरी दुनिया में नहीं छा जाता,कोई यूँ हीं नरेंद्र मोदी नहीं बन जाता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here