जानें सुपर कंप्यूटरों के मामले में चीन के आगे क्यों कहीं नहीं ठहरता भारत

0
131
processor-chip
चीन के मुकाबले में भारत के पास 20 गुना कम सुपर कंप्यूटर हैं.

सुपर कंप्यूटरों के मामले में हमेशा से अमेरिका का ही वर्चस्व रहा था, लेकिन दो साल पहली बार ऐसा हुआ कि यूएस को बुरी तरह पछाड़कर चीन अव्वल नंबर पर पहुंच गया. न केवल मशीनों की संख्या बल्कि इन सुपर कंप्यूटरों के प्रदर्शन के मामले में भी चीन ने बाज़ी मार ली. ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक चीन की यह बढ़त लगातार जारी है और अब चीन के पास दुनिया के सबसे ज़्यादा सुपर कंप्यूटर हैं, जिनकी संख्या अमेरिका की तुलना में करीब दोगुनी है.

दुनिया भर के सुपर कंप्यूटरों का लेखा जोखा रखने वाली संस्था टॉप 500 समय समय पर अपनी रैंकिंग्स भी जारी करती है. इन रैंकिंग्स में सुपर कंप्यूटरों की संख्या के साथ ही उनके प्रदर्शन के हिसाब से भी रैंक दी जाती है. इस लिस्ट के हिसाब से 2017 में चीन के पास 202 और अमेरिका के पास 143 सुपर कंप्यूटर थे, जबकि 2018 में चीन के सुपर कंप्यूटरों की संख्या बढ़कर 229 हुई लेकिन अमेरिका में घटकर 108 रह गई थी. इसी संस्था के 2019 के आंकड़ों के हिसाब से जानिए कि दुनिया में सुपर कंप्यूटर के मामले में कौन से देश आगे हैं और भारत कहां है.

ये हैं टॉप 5 देश :

चीन : वर्तमान में चीन के पास टॉप 500 में शुमार होने वाले 219 सुपर कंप्यूटर हैं. दो साल पहले तक दुनिया का सबसे बड़ा और सर्वश्रेष्ठ सुपर कंप्यूटर रहा सनवे ताइहूलाइट भी चीन के पास ही है. ताज़ा रैंकिंग में ये सुपर कंप्यूटर्स तीसरे और चौथे नंबर पर हैं.
अमेरिका : इस लिस्ट के 116 सुपर कंप्यूटरों के साथ अमेरिका दुनिया में दूसरा देश है जिसके पास सबसे ज़्यादा सुपर कंप्यूटर हैं. अमेरिका के सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर समिट और सिएरा हैं, जो रैंकिंग में पहले और दूसरे स्थान पर कायम हैं.

जापान : इस मामले में तीसरा सबसे समृद्ध देश जापान है, जिसके पास करीब 35 सुपर कंप्यूटर हैं. जापान का सबसे बड़ा सुपर कंप्यूटर रैंकिंग में 8वें नंबर पर है.
जर्मनी : करीब 20 सुपर कंप्यूटरों के साथ जर्मनी इस लिस्ट में चौथे नंबर पर है. एचएलआरएस जर्मनी का सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाला सुपर कंप्यूटर रहा है. जर्मनी के 9 सुपर कंप्यूटर टॉप 500 में शामिल हैं.
फ्रांस : टॉप 5 देशों की सूची में पांचवा देश फ्रांस है, जिसके पास करीब 18 सुपर कंप्यूटर हैं. फ्रांस का टॉप सुपर कंप्यूटर दुनिया की सात टॉप तेल व गैस कंपनियों में शुमार टोटल के पास है और फ्रांस के 6 सुपर कंप्यूटर टॉप 500 की 2019 लिस्ट में शुमार हैं.

चीन ने ऐसे मारी बाज़ी

चीन ने पिछले कुछ समय में शोध एवं विकास (R&D) पर काफी खर्च किया है. इस तरह की लिस्ट में अव्वल होना इस बात का सबूत है कि चीन तकनीकी दिशा में शोधों और ​लगातार विकास को कितना महत्व दे रहा है. सुपर कंप्यूटर सनवे ताइहूलाइट को चीन के समानांतर कंप्यूटर इंजीनियरिंग व तकनीक के लिए बने राष्ट्रीय शोध केंद्र ने ही विकसित किया है.

और भारत कहां खड़ा है?

वर्तमान में दुनिया के 500 बेस्ट सुपर कंप्यूटरों में से भारत के पास 11 हैं. यानी इस मामले में भारत से चीन करीब 20 गुना आगे है. भारत के पास जो सुपर कंप्यूटर मौजूद हैं, उनमें से बेस्ट 5 हैं :
सहस्र टी : यह सुपर कंप्यूटर टॉप 500 की लिस्ट में 96वें नंबर पर है.
आदित्य : यह सुपर कंप्यूटर टॉप 500 की लिस्ट में 116वें नंबर पर है.
टीआईएफआर : यह सुपर कंप्यूटर टॉप 500 की लिस्ट में 145वें नंबर पर है.
IIT दिल्ली एचपीसी : यह सुपर कंप्यूटर टॉप 500 की लिस्ट में 166वें नंबर पर है.
परम युवा 2 : यह सुपर कंप्यूटर टॉप 500 की लिस्ट में 251वें नंबर पर है.

इसके अलावा पिछले ही दिनों भारत के जोधपुर IIT में डीजीएक्स 2 नाम के सुपर कंप्यूटर को लगाया गया था. यह सुपर कंप्यूटर दुनिया में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की रेंज में सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर माना जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here