केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, डीजल पर वैट 30% से घटाकर 16.75% किया

इतिहास में ऐसा पहली बार देखा गया था कि पेट्रोल से ज्यादा महंगा डीजल बिकने लगा था। दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 80 रुपये के पार चली गई थी। लगातर केंद्र सरकार से यह मांग की जा रही थी कि वह तेल लगने वाले टैक्स को कम करे, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया।

0
32
kejriwal-media-handler hd
Photo: Internet

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने कोरोना महामरी के बीच जनता को बड़ी राहत दी है। दिल्ली कैबिनेट की बैठक के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रेस से बात की। उन्होंने प्रेस से बात करते हुए कहा, “दिल्ली की कैबिनेट ने आज यह फैसला किया है कि डीजल पर वैट को 30 प्रतिशत से घटाकर 16.75 प्रतिशत किया जाए। इससे दिल्ली में डीजल के दाम प्रति लीटर 8.36 रुपये कम हो जाएंगे, और 82 रुपये प्रति लीटर मिलने वाला डीजल 73.64 रुपये में मिलेगा।”

गौरतलब है कि इतिहास में ऐसा पहली बार देखा गया था कि पेट्रोल से ज्यादा महंगा डीजल बिकने लगा था। दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 80 रुपये के पार चली गई थी। लगातर केंद्र सरकार से यह मांग की जा रही थी कि वह तेल लगने वाले टैक्स को कम करे, लेकिन सरकार इस कोरोना महामारी में भी ऐसा करने के लिए तैयार नहीं हुई। कांग्रेस पार्टी ने देश भर में पेट्रोल और डीजल की बढ़ी हुई कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन भी किया था। वहीं, इस मौसम में किसान खेती करते हैं ऐसे में उन्हें डीलज की सबसे ज्यादा जरुरत होती है। लगातार यह मांग की जा रही थी कि सरकारें डीजल पर टैक्स कम करें ताकि किसानों को राहत मिले। इन सबके बावजूद केंद्र की मोदी सरकार ने एक न सुनी और किसानों को रहात नहीं दी। पेट्रोल की बढ़ी कीतमों को भी कम करने की मांग की जा रही है। विपक्ष का कहना है कि लोग लाखों की संख्या में बेरोजगार हो गए हैं। इस हहामारी में लोगों को राहत देने की बजाय सरकार उनसे तेल पर भारी टैक्स वसूल रही है।

प्रेस से बात करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली में 2 से 3 दिन पहले लॉन्च किए जॉब पोर्टल पर अब तक करीब 7,577 कंपनियों ने रजिस्टर किया है और 2,04,785 नौकरियों के विज्ञापन दिए गए हैं। मैं आने वाले दिनों में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए व्यापारियों से मिलूंगा और अगर उनकी और भी कोई समस्या होगी तो उसको ठीक करने की कोशिश करेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here