CAA बिल के मुद्दे से ग्रसित हुई उत्तर-पूर्वी दिल्ली

0
150
A man supporting a new citizenship law throws a stone at those who are opposing the law, during a clash in DELHI

CAA बिल के मुद्दे को लेकर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में लगातार तीन दिनों से हिंसा होते हुए दिखाई दे रही है। सीएए बिल के इस सैलाब में मौजपुर, भजनपुरा और ब्रह्मपुरी दिखाई दे रही है। हिंसा में अबतक 13 लोगों की जाने जा चुकी है। सूत्रों की मानें तो मंगलवार को हिंसा के दौरान 8 लोगों की मौत हुई है। वहीँ सोमवार को पांच लोगों ने अपनी जान गंवाई। हिंसा के दौरान लोगों ने काफी पथराव और तोड़फोड़ भी की। वहीँ इस हिंसा का प्रभाव 10 वीं और 12 वीं के छात्रों पर भी हुआ है।

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बताया कि बुधवार को भी उत्तर-पूर्वी दिल्ली में स्कूलों में अवकाश रहेगा। इसके अलावा बच्चों के इंटरनल एग्जाम भी स्थगित कर दिए गए हैं। वहीं, सीबीएसई ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में बुधवार को होने वाली 10-12वीं की परीक्षाएं स्थगित कर दी है।

आपको बता दें कि हिंसा प्रभावित क्षेत्रों को लेकर दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने कहा कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पर्याप्त पुलिस बल, सीएपीएफ और वरिष्ठ अधिकारी उत्तर पूर्वी दिल्ली में तैनात हैं। कुछ इलाकों में धारा 144 लागू है। हिंसा ग्रसित क्षेत्र मौजपुर के स्थानीय निवासी ने कहा कि यहां दंगों जैसे स्थिति उन्होंने 35 साल में पहली बार देखी है। साथ ही उन्होंने बताया की इन् इलाकों में हमेशा शांति ही रही है। साथ ही दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन पांच स्टेशन मंगलवार के दिन भी बंद रहे। डीएमआरसी ने ट्वीट कर बताया की जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एनक्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन बंद हैं। ट्रेनें वेलकम मेट्रो स्टेशन से आगे नहीं जाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here