धीरेंद्र बहादुर सिंह: 35 साल बाद किसानों के चेहरे पर आई मुस्कान, सामूहिक विकास है योगी सरकार का लक्ष्य

1
10
योगी सरकार dhirendra bahadur singh धीरेंद्र बहादुर सिंह

रायबरेली। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के साढ़े तीन साल पूरे होने जा रहे हैं। अगले डेढ़ साल में विधायकों को अपने क्षेत्र में जनता के सामने अपना रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करना होगा। जनता भी उनके कार्यों और चुनाव के दौरान किये गए वादों को अपनी कसौटी पर कसेगी।

हिन्दुस्थान समाचार ने भी विधायकों के इन साढ़े तीन साल के रिपोर्ट कार्ड को लेकर उन्हीं से जानने की कोशिश की। इसी श्रृंखला में रायबरेली के सरेनी विधानसभा क्षेत्र के विधायक धीरेंद्र बहादुर सिंह से हमारे संवाददाता रजनीश पांडे ने विस्तृत बात की

धीरेंद्र बहादुर सिंह भाजपा से पहली बार विधायक बने हैं। छात्र राजनीति से अपना राजनीतिक सफ़र शुरू करने वाले धीरेंद्र बहादुर सिंह अपने को जनता के बीच का प्रतिनिधि मानते हैं।

जनता के साथ हर सुख दुख में शामिल होने का दावा करने वाले सरेनी विधायक के रिपोर्ट कार्ड में जनता के लिये किये गए कामों की लंबी फेहरिस्त है। प्रस्तुत है इस बातचीत के मुख्य अंश…

सवाल- साढ़े तीन साल में आपने क्षेत्र में क्या विकास कार्य किये हैं, कुछ बड़ी परियोजनाओं के नाम भी बतायें जो जमीन पर हों।

जबाब- सरेनी क्षेत्र में सड़क, बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के बाबत कई महत्वपूर्ण काम हुए हैं, लेकिन जो सबसे महत्वपूर्ण काम हुआ है वह है 35 साल बाद नहरों में पानी आना। इसके लिए वह विधानसभा से लेकर मुख्यमंत्री तक हर जगह अपनी आवाज उठाई है जिसका नतीजा है कि यहां के किसानों के चेहरे पर वह मुस्कान ला सके हैं।

35 साल तक इस सम्बंध में किसी ने नहीं सोचा था। इसके अलावा डलमऊ को प्रांतीय मेला घोषित कराना व घाटों का सुंदरीकरण प्रमुख कार्य है। 39 करोड़ की लागत से लालगंज सरेनी का चौड़ीकरण भी हमारे ही प्रयास से सम्भव हो सका है।

विद्युतीकरण व नए तारों को बिछाना,पेयजल के लिए टंकियों का निर्माण प्रमुख उपलब्धि है। मेरे क्षेत्र में आपको सड़कों का जाल बिछा मिलेगा। इसके अलावा कई ऐसे काम हैं जो अभी पाइपलाइन में है जो जल्द ही पूरा हो सकेंगे।

सवाल- डेढ़ साल बाद चुनाव है, वह स्वयं की या सरकार की उपलब्धियों के साथ जनता के बीच जाना चाहेंगे?

जबाब- देखिये,मुख्यमंत्री योगी जी की सरकार द्वारा किये जा रहे जनहितकारी कामों का असर आम जनता में है, पारदर्शी और भष्टाचार मुक्त शासन व्यवस्था का लाभ सभी को मिल रहा है। निश्चित रूप से इसका लाभ 2022 के चुनावों में मिलेगा।

विधानसभा की जनता के सामने वह दोनों उपलब्धियों को ले जाएंगे। उनके खुद के कराए विकास कामों और सरकार की उपलब्धियां ही चुनाव का आधार होंगी। इसके साथ ही जनता के बीच हमेशा मौजूद रहना व उनके सुख दुख में सहभागी होना भी जनता के सामने है।

Also Read: UP Government Action Mode -योगी आदित्यनाथ ने 8 जिलों के कप्तान समेत 13 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए

सवाल- अपनी सरकार को अन्य दलों की सरकारों से क्या अंतर पाते हैं?

जबाब- योगी सरकार व अन्य सरकारों में अंतर तो छोड़िए इनमें कोई तुलना ही नहीं हो सकती है। सपा-बसपा दलों की सरकारों में व्यक्तिगत काम होते रहे। खनन और ठेकेदारी प्रथा का बोलबाला था जिसमें वसूली होती थी। अपराध और दलाली का बोलबाला था। थाना और तहसील में आम जनता की कोई सुनवाई ही नहीं होती थी। जातीय तुष्टिकरण ही मुख्य काम था, जबकि भाजपा सरकार में सामुहिक विकास की बात हो रही है।

विभागों में ई टेंडरिंग, विद्युतीकरण या विकास के काम सब सामुहिक विकास के ही आधार हैं, जिनसे जनता को पारदर्शी और बेहतर व्यवस्था मिल रही है। कानून व्यवस्था सुदृढ़ है,अपराधियों पर लगाम लगाया जा रहा है। गलत पाये जाने पर किसी को बख्शा नहीं जा रहा है। इससे राज्य में सुशासन का वादा पूरा हो रहा है। जबकि अन्य सरकारों में बिल्कुल भी ऐसा नहीं था।

सवाल-अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है,यह विधानसभा चुनाव में कितना असर करेगा?

जबाब- भाजपा का श्रीराम मंदिर को लेकर हमेशा से स्पष्ट मत था कि यह कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है। यह करोड़ों लोगों की आस्था और विश्वास का मामला है। हालांकि भाजपा का मंदिर निर्माण के लिए हुए संघर्ष में सहयोग और समर्थन रहा है।

इसलिए भाजपा कार्यकर्ता मंदिर निर्माण को लेकर बेहद उत्साहित हैं। भाजपा शासन में मंदिर निर्माण शुरू होने से सभी को खुशी है। यह जरूर है कि लोगों की आस्था से जुड़ा होने के कारण यह आम जन को जरूर प्रभावित करेगा।

जन-जन की आस्था के प्रतीक भगवान राम के मंदिर निर्माण के शुरू होने से वर्षो से चला आ रहा यह विवाद भी समाप्त हो गया।

सवाल- 2022 के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर भाजपा की सरकार की उम्मीद हैं?

जबाब- बिल्कुल 2022 में फिर फिर भाजपा की ही सरकार बनेगी। साढ़े तीन साल में ही अपने किये गए वादों को इस सरकार ने पूरा कर दिखाया है और जनता की कसौटी पर यह सरकार खरी उतरी है। बिना किसी भेदभाव के ‘सबका साथ,सबका विकास’ के भाव के साथ यह सरकार काम कर रही है जिसे जनता निश्चित रूप से समझ रही है।

कुशासन, अपराध और भ्रष्टाचार पर लगाम लगी है। मूलभूत सुविधाएं लोगों को अब आसानी से उपलब्ध हो रही हैं। सरकार बनने के पहले दिन से ही किसानों के कर्जे को माफ करने व अन्य वादों को पूरा करने का काम शुरू हो गया जिसका असर साफ़ दिखाई पड़ रहा है। विकास के साथ-साथ अन्य मुद्दों पर भी काफी काम हुए हैं।

बेरोजगारी को लेकर एक सवाल पर कहा कि विपक्षियों द्वारा बेरोजगारी को लेकर जो भ्रमजाल फैलाया जा रहा है। उसके उलट कौशल विकास के तहत लाखों बेरोजगार नौकरी या व्यवसाय से जुड़ चुके हैं। सरकारी नौकरी अब योग्य अभ्यर्थियों को मिल रही है।

सभी रिक्त पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरा जा रहा है। अब प्रदेश का माहौल माफियाओं, गुंडों, भ्रष्ट लोगों का नहीं है। इन सब कामों के बल पर ही जनता का विश्वास इस सरकार के साथ है और आगे भी 2022 में फिर भाजपा की ही सरकार ही बनेगी।

सवाल- अंत में एक सवाल, साढ़े तीन साल में आप अपने काम से कितना संतुष्ट हैं?

जबाब- इन साढ़े तीन सालों में क्षेत्र में कई उल्लेखनीय काम हुए हैं लेकिन फिर भी कई काम अभी भी बाकी है। उन्हें उम्मीद है कि अगले डेढ़ साल में भी यह बचे काम पूरे हो जायेंगे।

हमने अपने किये वादों में 70 प्रतिशत काम पूरा कर लिया है जिससे वह संतुष्ट है और आगे भी सरेनी वासियों की सेवा में वह जुटे हैं। अभी डेढ़ साल का समय है कई ऐसे छोटे बड़े काम हैं जो पाइपलाइन में है जिसे जल्द पूरा कराना पहली प्राथमिकता है।

Also Read: “राष्ट्रभाषा हिन्दी का सम्मान”

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here