जिला अस्पताल के सर्जन समेत सात कोरोना पॉजिटिव, हड़कंप

0
210
distt. hospital raebareli

जिला अस्पताल के एक सर्जन की कोरोना रिपोर्ट ट्रूनेट मशीन में पॉजिटिव पाए जाने के बाद हड़कंप मच गया है। पुष्टि के लिए सर्जन का सैंपल एसजीपीजीआई लखनऊ भेजा गया है। इसके अलावा मंगलवार को छह और लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें बछरावां सीएचसी के संक्रमित फार्मासिस्ट की पत्नी और बेटा के साथ ही सीएचसी के संक्रमित अधीक्षक की एक महिला रिश्तेदार भी कोरोना संक्रमित मिली है। बछरावां सीएचसी के सुपरवाइजर की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। नोएडा से गदागंज क्षेत्र के भगौतीपुर आए युवक और सलोन कस्बे की एक वृद्धा में भी कोरोना की पुष्टि हो गई है। कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार इजाफा होने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।

जिला अस्पताल में तैनात सर्जन ने समस्या होने पर अस्पताल में लगी ट्रूनेट मशीन से मंगलवार को अपनी कोरोना की जांच कराई। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला अस्पताल में हड़कंप मच गया। पुष्टि के लिए सैंपल एसजीपीजीआई लखनऊ भेजा गया है। तब तक चिकित्सक को आइसोलेशन में रखा गया है। एसजीपीजीआई से मंगलवार को कोरोना की और रिपोर्ट आ गई। 02 जुलाई को कोरोना संक्रमित पाए गए बछरावां सीएचसी के फार्मासिस्ट की पत्नी व 22 साल के बेटे की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई है।

फार्मासिस्ट को हालत खराब होने पर एसजीपीजीआई के लेवल-3 अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बछरावां सीएचसी के अधीक्षक की सोमवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद मंगलवार को उनकी एक महिला रिश्तेदार की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई है। सीएचसी के सुपरवाइजर में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। गदागंज थाना क्षेत्र के भगौतीपुर गांव में रहने वाले युवक में कोरोना की पुष्टि हुई है। युवक नोएडा से आया था। सभी को रायन स्कूल के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सलोन नगर की 75 वर्षीय वृद्धा की रिपोर्ट निजी पैथालॉजी से पॉजिटिव आई है। उसे लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ट्रूनेट मशीन की जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए जिला अस्पताल के सर्जन से कई नर्सिंग स्टाफ, डॉक्टरों और मरीजों के भी संक्रमित होने का खतरा बढ़ गया है। सर्जन ने वार्डों में भर्ती मरीज का इलाज किया। नर्सों के पास रहने वाले मरीजों की बीएसटी में भी दवाएं लिखी। ऐसे में नर्सों में संक्रमण का ज्यादा खतरा बढ़ गया है। ओपीडी कक्ष के अलावा सीएमएस व अन्य संपर्क में आए चिकित्सकों में भी संक्रमण होने का खतरा है। हालांकि एसजीपीजीआई लखनऊ से कोरोना की पुष्टि होने के बाद जिला अस्पताल के पूरे स्टाफ की जांच कराने की तैयारी की जा रही है।

एसजीपीजीआई से पांच और निजी पैथालॉजी से एक रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। जिला अस्पताल में ट्रूनेट मशीन से एक रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पुष्टि के लिए डॉक्टर के सैंपल को एसजीपीजीआई लखनऊ भेजा गया है।

– डॉ. संजय कुमार शर्मा, सीएमओ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here