कंपनी के उदासीन रवैये से उपभोक्ताओं में नाराज़गी

0
192
n=bijli samasya

खुदागंज से नई पचलोवा विद्युत शक्ति उपकेंद्र जाने वाली 33 के.वी लाइन का निर्माण कार्य पिछले वर्ष नये सिरे से हुआ था जो कि L&T कंपनी के द्वारा प्रोजेक्ट की देखरेख में बनाया गया था। रविवार शाम आई आंधी पानी और ओलावृष्टि के कारण बिजली चरमरा गयी सवाल उठता है कि L&T कंपनी के प्रोजेक्ट द्वारा महज़ एल साल पहले बनी लाइन एक छोटा सा तूफान सहन नहीं कर पाया क्योंकि इसमें जो मेटेरियल उपयोग किया गया है उसकी गुणवत्ता बेहद ख़राब है और नतीजन इसका दुःख उपभोक्ताओं को झेलना पड़ रहा है। इसके बाद भी कंपनी इसे गंभीरता से नहीं ले रही है, जिसके कारण उपभोक्ताओं में नाराजगी है.

इसको लेकर जब राष्ट्रहित के संवाददाता अमित चौरसिया  ने इसलामपुर के सहायक विद्युत अभियंता ऋतु राज व खुदागंज के कनीय विद्युत अभियंता विश्वेन्द्र सिंह से इस संदर्भ में बात किया तो उन्होंने बताया न्यू लाइन होने के कारण इसका रख रखाव व देखभाल की पूरी जिम्मेदारी L&T कंपनी एवं प्रोजेक्ट विंग के सहायक विद्युत अभियंता की है, इसकी सुचना प्रोजेक्ट के सहायक विद्युत अभियंता एकंगरसराय एवं L&T कंपनी के परियोजना के मैनेजर को दे गई है लेकिन इसको लेकर परियोजना मैनेजर द्वारा टालमटोल की जा रही है। इसलामपुर के सहायक विद्युत अभियंता ऋतु राज एवं खुदागंज के कनीय विद्युत अभियंता विश्वेन्द्र सिंह ने बताया कि उपभोक्ता की मांगो को देखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था के जरिए खुदागंज पावरग्रिड से बिजली टेम्परेरी रूप से पहुंचा दिया गया है। आपको बता दूं कि पूरे खुदागंज पॉवर सब्स्टेशन में लगभग 18 हज़ार उपभोक्ता हैं, फ़िर भी कंपनी का रवैया उदासीन है और इसका प्रकोप उपभोक्ताओं को झेलना पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here