“विषखोपड़ा और सांप” ये क्वारंटीन सेंटर है कुछ अजीब, सबकी जान खतरे में |

0
17
raibareili police quarantinre cantre

सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से क्वारेनटाइन सेंटर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिला प्रशासन ने कोरोना मरीजो को रखने के लिए जिस स्कूल को क्वारेनटाइन सेंटर बनाया है उसमे सांप आदि विषैले जंतुओ की भरमार है। ऐसे में मरीजो से लेकर इनका इलाज कर रहे स्टाफ तक जान हथेली पर लेकर ड्यूटी कर रहे। आरोप है प्रशासन से इसकी शिकायत भी की गई लेकिन सुना अनसुना कर दिया गया।
यहां विषखोपड़ा और सांप दिन भर घूमते रहते हैं
दरअस्ल, ये पूरा मामला जिले के गोपाल सरस्वती स्कूल में बने क्वारेनटाइन सेंटर से जुड़ा है।

प्रशासन द्वारा बनाए गए इस क्वारेनटाइन सेंटर का जो वीडियो सामने आया है उसमे सांप, विषखोपड़ा आदि विषैले जंतु घूमते नजर आ रहे हैं। जिसे देखकर यहां भर्ती कोरोना संक्रामित मरीजो से लेकर इलाज में लगे स्टाफ तक सभी डरे हुए हैं। क्वारेनटाइन सेंटर पर तैनात गार्ड ने बताया कि यहां विषखोपड़ा और सांप दिन भर घूमते रहते हैं, इससे भयंकर ख़तरा है। मौजूदा समय में सेंटर पर 12 मरीजो का इलाज चल रहा है।
सेंटर को दिन में 3 से 4 बार सेनेटाइज किया जाए

गार्ड ने बताया कि स्कूल स्टाफ से बताया गया तो जवाब मिला कि यहां तो 5-6 जंतु तो रोज ही मारे जाते हैं। ये स्थित तब है जब क्वारेनटाइन सेंटर के लिए डब्लू एचओ की गाइड लाइन है कि क्वारेनटाइन सेंटर को दिन में 3 से 4 बार सेनेटाइज किया जाए। बड़ा सवाल ये है कि रायबरेली जिला डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के प्रभार वाला जिला है, जब डिप्टी सीएम के प्रभार वाले जिले का आलम ये है तो बखूबी अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश के अन्य जिलो में चल रहे क्वारेनटाइन सेंटरो का हाल क्या होगा।

वीडियो हुआ वायरल –

आपको बता दें कि रायबरेली में ये कोई नया मामला नही है। अप्रैल अंत में भी जिले के बछरावां में बने आइसोलेशन सेंटर के डॉक्टर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। उक्त वीडियो में डाक्टर ने आरोप लगाया था कि, उन्हें न तो सही भोजन दिया जा रहा न ही पर्याप्त पानी। 25 की टीम पर 20 लीटर पानी मिल रहा है। सेंटर का बाथरूम चोक है। एक बाथरूम में 25 लोगों को नहाना पड़ रहा है। पीपीई किट भी संक्रमण रोक पाने में अक्षम है।

डॉक्टरों ने साफ कहा कि, वे यहां पिकनिक मनाने नहीं आए हैं। लेकिन हमें सुरक्षा तो जरूर चाहिए। यदि कोई एक पॉजिटिव हो गया तो पूरी टीम संक्रमित हो जाएगी। आरोप है कि, शिकायत करने के बाद भी सुविधाएं नहीं दी गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here