तेलंगाना नगर निगम चुनावों के बाद BJP और कांग्रेस ने मिलाए हाथ

हालांकि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के नेता इसे बेहद 'स्थानीय प्रबंध' कह रहे हैं जो कि नतीजे आने के बाद किया गया है और भविष्य में ऐसे किसी गठबंधन के किए जाने से इंकार किया है. जबकि विश्लेषक बता रहे हैं कि दोनों ही पार्टियों ने कैसे कई बार जमीन पर साथ में काम किया है.

0
80
BJP AND CONGRESS JOINS HANDS FOR LOCAL ELECTIONS 2020

तेलंगाना नगर निगम चुनावों में एक अजीबोगरीब गठबंधन देखने को मिला. जिसमें भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस साथ में आए हैं. राज्य की सत्ता पर काबिज तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) को हराने के लिए दोनों ही राष्ट्रीय दलों ने आईटी हब मनिकोंडा नगर निगम चुनावों में नतीजे आने के बाद गठबंधन किया है. जिसके बाद दोनों ने मंगलवार को आपस में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पद बांट लिए.

हालांकि, विश्लेषकों का कहना है कि दोनों पक्ष लंबे समय से दोनों पार्टियां साथ में काम कर रही हैं.

सूत्रों का दावा, मक्थल में भी हुआ था ऐसे ही गठबंधन का प्रयास
मनिकोंडा नगरपालिका के कुल 20 वार्डों में से कांग्रेस ने 8, बीजेपी ने 6 और TRS ने 5 सीटें हासिल कीं. एक वार्ड का चुनाव निर्दलीय उम्मीदवार ने जीता.

सूत्रों ने दावा किया कि पार्टियों ने मक्थल में भी ऐसे ही गठबंधन  की कोशिश की थी लेकिन ऐसा हो नहीं सका था.

बीजेपी नेता ने कहा, ‘यह राज्य में कांग्रेस को खत्म करने का प्रयास’
तेलंगाना के बीजेपी नेता जितेंद्र रेड्डी, जो हाल ही में TRS से पार्टी में आए हैं, उन्होंने कहा, “मक्थल मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आता है और मैं आपको आश्वासन देता हूं कि वहां पर ऐसी कोई बात नहीं थी. बीजेपी के पास एक सुविधाजनक बहुमत था. दूसरे इलाकों में जो भी हुआ वह एक बेहद स्थानीय और आंतरिक प्रबंध है. यह बीजेपी का राज्य में कांग्रेस को खत्म करने का प्रयास है.”इसी तरह बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों के नेता इसे बेहद ‘स्थानीय प्रबंध’ कह रहे हैं जो कि नतीजे आने के बाद किया गया है और भविष्य में ऐसे किसी गठबंधन के किए जाने से इंकार किया है. जबकि विश्लेषक बता रहे हैं कि दोनों ही पार्टियों ने कैसे कई बार जमीन पर साथ में काम किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here