यूपी-उत्तराखंड में 11 सीटों पर चुनाव की घोषणा के साथ ही बढ़ी सियासी हलचल

0
10
election

कहा जाता है कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर गुजरता है लेकिन मौजूदा समय की सियासत का पहिया तो देखिए, राज्यसभा में बहुमत की गाड़ी भी उत्तर प्रदेश से ही होकर गुजरती दिखाई दे रही है…

यूपी और उत्तराखंड में राज्यसभा की 11 सीटों पर चुनाव का ऐलान हुआ है 9 नवंबर होने वाले राज्यसभा के इस रण में उत्तर प्रदेश की 10 सीटे देश की राजनीति का भी परिदृश्य बदल देगी क्योंकि, यूपी की 10 में से 9 सीटे बीजेपी के खाते में जाने की उम्मीद है ।

सियासी शून्य पर खड़े विपक्ष के लिए इससे बुरा दौर शायद ही कभी रहा हो, लोकसभा के साथ अब तो राज्यसभा पहुंचने के भी लाले हैं.4 सीटें खाली होने के बाद सपा के हिस्से में 1 ही सीट आएगी. अकेले प्रोफेसर साहब ही साइकिल पर सवार होकर राज्यसभा पहुंचेगें. पर हाथ और हाथी वाली पार्टी की हालत ये है कि ‘कोई हमदम नहीं-कोई हमारा नहीं’ और राज्यसभा के लिए कोई किसी का सहारा भी नहीं.।

10 सीटों पर रिजल्ट के बाद उच्च सदन की तस्वीर में बड़ा बदलाव होगा. 245 सदस्यों वाली राज्यसभा में बहुमत का आंकड़ा 123 है और इन नतीजों के बाद बीजेपी की अगुवाई वाले राजग के सदस्यों की संख्या 118 पहुंच जाएगी और वहीं 31 सीटों के कोटे वाले यूपी से बीजेपी के सदस्यों की संख्या भी 23 हो जाएगी..और यूपी से 23 सदस्यों की संख्या मोदी सरकार को बड़ी ताकत और विपक्ष को बड़ा संदेश देगी…वहीं विपक्ष की हालत पर सवाल ये है कि, आखिर कहां आ खड़ा हुआ है विपक्ष..?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here